कमलम्, सैक्टर 33 में श्री अरूण जेटली, केन्द्रीय वित्तमंत्री द्वारा दिए गए बजट भाषण के सीधे प्रसारण

bjpchd1

bjpchd2

चंडीगढ 10 जुलाई, 2014:  भारतीय जनता पार्टी चंडीगढ़ के सी.ए प्रकोष्ठ एवं आर्थिक प्रकोष्ठ ने पार्टी कार्यालय कमलम्, सैक्टर 33 में श्री अरूण जेटली, केन्द्रीय वित्तमंत्री द्वारा दिए गए बजट भाषण के सीधे प्रसारण का आयोजन किया।

सीधे प्रसारण के साथ-साथ पार्टी कार्यालय में सी.ए. प्रकोष्ठ व आर्थिक प्रकोष्ठ की बैठक भी की गई जिसकी अध्यक्षता प्रदेशाध्यक्ष संजय टंडन ने की। इस बैठक में सी.ए. प्रकोष्ठ के संयोजक प्रमोद बिंदल, आर्थिक प्रकोष्ठ के संयोजक तरसेम गर्ग तथा दोनों प्रकोष्ठों के मुख्य सहयोगी शिव कुमार गुप्ता, रविन्द्र गर्ग, अनिल कालिया, राकेश भल्ला, एच.एस. खुराना, पुष्पीन्द्र दुगग्ल, अनिल खन्ना के साथ सी.ए., सी.एम.ए. व आई.सी.एस.आई के अन्य वरिष्ठ पेशेवर भी मौजूद थे।

वित्तमंत्री के बजट भाषण के पश्चात सभी ने प्रस्ताव पास कर श्री नरेन्द्र मोदी एवं श्री अरूण जेटली को दूरदर्शी, सुधार व तरक्की करने वाला, नौकरियां बढ़ाने वाला, निवेश के अनुकूल, प्रत्येक वर्ग एवं प्रत्येक प्रदेश का ध्यान रखने वाला बजट बनाने के लिए बधाई दी।

सदस्यों ने बजट के सभी बिन्दुओं पर चर्चा की और व्यक्तिगत कर, स्वास्थ्य, खेल, शिक्षा, बुनियादी ढांचे, पुरातत्व, पर्यटल, रक्षाबल, कश्मीरी विस्थापित, कृषी, स्र्माट शहरों का निर्माण, उर्जा, बैंकिंग क्षेत्र में सुधार, घरेलू उद्योगों को प्रोत्साहन, कर्मचारियों को सामाजिक सुरक्षा और सेहत के लिए नुक्सानदायक सामान को हत्तोसाहित करने के लिए बजट में वित्तमंत्री द्वारा सुझाई गई पहल की सराहना की।

सदस्यों ने निवासी करदाताओं के लिए अग्रिम रूलिंग, स्थानातरण मूल्य निर्धारण में पहल, आर.ई.आई.टी व इन्फ्रा इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट की स्थिति तथा रक्षा एवं बीमा क्षेत्र में एफ.डी.आई में छूट के माध्यम से पारित, अमृतसर का विरासत नगरी के तौर पर विकास, सी.एस.आर के द्वारा झुग्गी-झोपड़ी क्षेत्र का विकास, 4 ऐ.आई.आई.एम.एस., 5 आई.आई.टी., 5 आई.आई.एम, खेल विश्वविद्यालय, एम.एस.एम.ई. के लिए उद्यम् पूंजी और के.वाई.सी. मानदंडों की एकीकरण के लिए खास तौर पर बजट की सराहना की।

संजय टंडन ने कहा कि यह बजट ‘सबका साथ सबका विकासÓ की धारणा पर केन्द्रित है व मोदी जी ने सभी देशवासियों को एक कदम आगे बढऩे का मौका दिया है ताकि देश 125 करोड़ कदम आगे बढ़ सके।