प्रैस विज्ञप्ति – चंडीगढ 24 जुलाई, 2014: जुमा अलविदा

चंडीगढ 24 जुलाई, 2014:  हिन्दुस्तान में विभिन्न धर्मों के लोग रहते हैं और विभिन्न प्रकार के त्यौहार मनाए जाते हैं। दीपावली हो या गुरूपूर्व, क्रिसमस हो या ईद सभी त्यौहारों भारतवासी बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं। इन्ही त्यौहारों में एक त्यौहार ईद का है जो बहुत जल्द आने वाली है। शुक्रवार यानि की जुमे का दिन कल मुस्लिम समुदाय के लोग जुमा अलविदा मनाने जा रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी चंडीगढ़ के प्रदेशाध्यक्ष संजय टंडन और अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष हाजी मो. खुर्शीद अली ने चंडीगढ़ वासियों को अलविदा जुमा की मुबारकबाद दी।

प्रदेशाध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि रमजान का पवित्र महीना चल रहा है यह महीना भाई-चारे का संदेश देता है। 15 अगस्त 1947 को जब देश आजाद हुआ था उस समय भी रमजान का महीना चल रहा था और उस दिन 27वां रोजा था। इसी पाक महीने में हमने आजादी की सांस ली थी। भारत देश की एकमात्र ऐसा देश है जहां हर जाति के लोग रहते हैं और मिल-जुल का त्यौहार मनाते हैं।

मोर्चा अध्यक्ष हाजी खुर्शीद ने कहा कि रमजान का आखरी असरा चल रहा है। इसमें अल्लाह ताला गुन्हागारों को माफ करता है और नेकियों में इजाफा करता है। इस महीने में मुस्लिम समुदाय के लोग जकात देते हैं, फितरा देते हैं, रोजा रखकर अल्लाह को खुश करने की कोशिश करते हैं और अल्लाह से अपने गुनाहों की माफी मांगते हैं जो लोग सच्चे मन से अल्लाह से माफी मांगते हैं अल्लाह उन्हें माफ कर देता है।